आरोपी एसओ व एसआई को बर्खास्त करें

bhadas4journalist-logoबाराबंकी। एक पत्रकार की मां को थाने में जिंदा जलाने की वारदात के बाद हर किसी में पुलिस के प्रति गहरा आक्रोश व्याप्त है। विभिन्न दलों के लोग पीड़ित परिवार को प्रदेश सरकार से 30 लाख रुपये की आर्थिक मदद दिलाने की मांग करने के साथ ही आरोपी थानाध्यक्ष व एसआई को बर्खास्त करने की मांग कर रहे है। वहीं पुलिस की हिटलर शाही के विरोध में शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने इस मामले को लेकर एसपी का घेराव किए जाने की बात कही है। अमर उजाला ने जब जिले के भाजपा व कांग्रेस सांसद और बसपा के नेताओं से बात की तो सभी ने कुछ इस तरह से अपनी अपनी बातें रखी।
एसपी का घेराव करेंगे शिवसेना कार्यकर्ता
शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को अपने कार्यालय पर बैठककर पत्रकार की मां को कोठी थाने मेें जिंदा जलाने के मामले में एसपी का घेराव करने की रणनीति बनाई। संगठन के जिला प्रभारी मनोज विद्रोही ने कहा कि 8 जुलाई को शिवसेना कार्यकर्ता एसपी कार्यालय का घेराव करेंगे। प्रदेश महामंत्री किशनलाल रावत ने कहा कि मामले में आरोपी एसओ व एसआई को बर्खास्त किया जाए।
थानेदार को बर्खास्त करें
भारतीय कम्यूनिष्ट पार्टी के सह सचिव रणधीर सिंह सुमन ने कहा कि आज के समय में पत्रकार ही सबसे निरीह हो गया है। कहा अभी कुछ दिन पूर्व सत्तापक्ष के एक विधायक के भाई पर गंभीर आरोप लगे पर किसी पुलिस अधिकारी ने उनसे पूछताछ करने की हिम्मत नहीं जुटाई। लेकिन एक पत्रकार के निर्दोष पिता को पुलिस 24 घंटे से भी ज्यादा थाने में अवैध हिरासत में बैठाए रखी और जब उसकी पत्नी थाने गई तो उसके साथ रेप का प्रयास कर जिंदा जला दिया गया। इस मामले में तुरंत थानेदार को बर्खास्त कर रासुका लगाई जाए।

loading...
Loading...
Loading...
loading...