दैनिक जागरण पर चुनाव आयोग द्वारा मुकदमा कराए जाने की बड़ी खबर न्यूज चैनल दबा गए!

दैनिक जागरण ने कानून को ठेंगा दिखाकर अपनी वेबसाइट पर Exit Poll प्रकाशित किया, लेकिन चैनलों ने जागरण की खिंचाई करने वाली कोई खबर नहीं दिखाई। चुनाव आयोग ने जागरण की करतूत का ‘संज्ञान’ लिया, लेकिन चैनल चुप रहे।

चुनाव आयोग ने जागरण के संपादकों और MD के खिलाफ FIR दर्ज करने का आदेश दिया, लेकिन चैनलों की चुप्पी नहीं टूटी। देश का एक बड़ा अखबार चुनाव प्रक्रिया के बीच में Exit Polls प्रकाशित कर कानून तोड़ता है, क्या चैनलों के लिए ये NEWS नहीं है?

loading...
Loading...

मूल खबर ये है :

दैनिक जागरण एक्जिट पोल का प्रकाशन कर चुनाव आयोग के नियमों का किया उलंघन, तत्काल एफआईआर दर्ज का दिया आदेश

Loading...
loading...