लंबे अर्से बाद यूपी में प्रेस मान्यता समिति की गई गठित, उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के सदस्य श्रीधर अग्निहोत्री भी शामिल

उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के सदस्य श्रीधर अग्निहोत्री

उत्तर प्रदेश में सूचना विभाग की प्रेस मान्यता समिति का गठन कर दिया गया है। काफी लंबे अर्से बाद गठित की गई इस समिति में पत्रकार संगठनों के प्रतिनिधियों को शामिल किया है। 11 सदस्यीय समिति में सूचना निदेशक व अपर निदेशक भी शामिल हैं।

सूचना निदेशक अनुज कुमार झा की अध्यक्षता में गठित इस समिति में प्रदेश के पत्रकारों की मान्यता संबंधित प्रकरणों को हल किया जाएगा। समिति में संयोजक के तौर पर अपर निदेशक सूचना का नाम भी शामिल किया गया है। तो वहीं सदस्यों में इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट के सदस्य शिव शरण सिंह व हरि कृष्ण अरोड़ा, नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट के सदस्य रतन कुमार दीक्षित व प्रमोद गोस्वामी, ऑल इंडिया न्यूजपेपर्स एडिटर कॉन्फ्रेंस के सदस्य उत्तम चंद्र शर्मा, यूपी वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन के सदस्य रविंद्र जायसवाल, उत्तर प्रदेश हिंदी समाचार पत्र सम्मेलन के सदस्य सूर्यमणि रघुवंशी, पीटीआई संवाददाता संगीता बकाया, यूएनआई संवाददाता नरेंद्र कुमार श्रीवास्तव, एसोसिएशन ऑफ स्माल एंड मीडियम न्यूजपेपेर्स ऑफ इंडिया की सदस्य उमा मिश्रा, उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के सदस्य श्रीधर अग्निहोत्री व नीरज श्रीवास्तव और प्रेस परिषद के प्रतिनिधि एस. एन. सिन्हा का नाम शामिल है।

काफी लम्बे अर्से बाद यूपी सरकार ने प्रेस मान्यता कमेटी में पत्रकार संगठनों के प्रतिनिधियों को शामिल किया है। अल्पसंख्यक वर्ग और उर्दू मीडिया को छोड़कर कमेटी गठन काफी संतुलित है। प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, पत्र-पत्रिका, न्यूज एजेंसी, युवा प्रतिनिधित्व, वरिष्ठों की भागीदारी, मेल-फीमेल और प्रत्येक जाति और वर्ग की बराबर की भागीदारी है।  लगभग आठ सौ पत्रकारों की राज्य मुख्यालय की प्रेस मान्यता है।जिसमें करीब सौ अल्पसंख्यक वर्ग के पत्रकार है। इनमे तकरीबन 80 उर्दू मीडिया से है। जबकि उर्दू मीडिया में तकरीबन सौ लोगों की मान्यता है, जिसमें अल्पसंख्यक पत्रकारों के अलावा 20-25 बहुसंख्यक वर्ग के पत्रकार है।

देखें सूची-

loading...
Loading...

 

Loading...
loading...