न्यूज पोर्टल ‘लल्लनटॉप’ को आशीष महर्षिं ने कहा ‘बाय-बाय’

अपने उम्दा कंटेंट के जरिए एक अलग पहचान बना चुकी इंडिया टुडे समूह की हिंदी वेबसाइट ‘लल्लनटॉप’ से खबर है कि आशीष महर्षिं ने इस वेबसाइट का साथ छोड़ दिया है। वे यहां असिसटेंट एडिटर के पद पर अक्टूबर, 2017 से थे। मिली जानकारी के मुताबिक, फिलहाल उन्होंने अपनी नई पारी अभी कहीं से नहीं शुरू की है।

आशीष ‘लल्लनटॉप’ से पहले दैनिक भास्कर के डिजिटल वेंचर के साथ अप्रैल, 2008 से जुड़े हुए थे। तब उन्होंने यहां सीनियर एडिटर के तौर पर भास्कर जॉइन किया था और इसके बाद उन्हें अप्रैल, 2010 में प्रमोट कर चीफ सब एडिटर और मार्च, 2015 में प्रमोट कर न्यूज एडिटर बना दिया गया। आशीष ने दैनिक भास्कर में सोशल मीडिया प्रमुख की भी जिम्मेदारी निभा चुके हैं। आशीष दो वर्ष नेटवर्क18, मुंबई में भी अपनी सेवा दे चुके हैं।

10 नवंबर 1983 को बनारस में जन्में आशीष की शुरुआती पढ़ाई आजमगढ़ और वाराणसी में हुई। इसके बाद वे राजस्थान आ गए। वहां उन्हें अलवर और जयपुर से बीकॉम किया। आशीष राजस्थान के कई समाजिक आंदोलनों से भी जुड़े रहे हैं, इसमें राइट टू इंफामेशन, राइट टू फूड जैसे प्रमुख आंदोलन है। आशीष मानवाधिकार संगठन पीयूसीएल के आजीवन सदस्य भी हैं।

loading...
Loading...

राजस्थान में कुछ साल रहने के बाद उन्होंने भोपाल की माखनलाल यूनिवर्सिटी से मास्टर्स इन जनलिज्म किया। इसके बाद उनका चयन मुंबई में ही नेटवर्क18 के साथ कॉपी एडिटर क तौर पर हो गया था।

Loading...
loading...