दर्द-ए-बयां

Facebook Featured इधर उधर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया खास खबर दर्द-ए-बयां पुलिसिया भड़ास प्रिंट मीडिया राज्य

पत्रकार विनोद दुआ की बेटी और कॉमेडियन मल्लिका दुआ एक बार फिर खबरों में हैं । पुलवामा आतंकी हमले को लेकर जहां पूरा देश शोक मना रहा है ...
0
Facebook Featured इधर उधर खास खबर दर्द-ए-बयां राज्य

1954 में प्रयाग में पड़ने वाले कुंभ में मौनी अमावस्या का दिन मेरे जीवन में सर्वाधिक रोमांचकारी तथा दु:खद घटना होने के साथ ही एक प्रेस फोटोग्राफर के ...
0
Facebook Featured खास खबर दर्द-ए-बयां प्रिंट मीडिया राज्य

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने पत्रकार प्रिया रमानी को समन जारी करके उन्हें 25 फरवरी को अदालत के सामने पेश होने के लिए कहा है. स्क्रोल डॉट इन के ...
0
Facebook Featured खास खबर दर्द-ए-बयां

सूडान में रोटी की कीमत बढ़ने के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों के दूसरे दिन देश के पूर्वी हिस्से में प्रदर्शनकारियों और दंगा-निरोधी पुलिस के बीच हुई झड़प में ...
0
Facebook Featured इलेक्ट्रॉनिक मीडिया खास खबर दर्द-ए-बयां पुलिसिया भड़ास राज्य

नई दिल्ली। केरल के प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर के कपाट आज (बुधवार) खुल गए हैं. सुप्रीम कोर्ट ने मंदिर में महिलाओं की एंट्री पर लगे बैन को हटा दिया था, जिसपर विवाद हो ...
0
Facebook Featured खास खबर दर्द-ए-बयां प्रिंट मीडिया राज्य

सुबह -सुबह बुरी खबर से सामना हुआ . कुलदीप नैयर के जाने की खबर आई . श्रद्धांजलि उस शख्स को , जिसका लिखा पढ़कर हम हमेशा देश -दुनिया, ...
0
Facebook Featured खास खबर दर्द-ए-बयां प्रिंट मीडिया राज्य

स्मृतिशेष कुलदीप नैय्यर को शब्दांजलि…  एक पत्रकार के लिए इससे दुखद समाचार क्या हो सकता है कि सुबह आंख खुलने पर उसे किसी बुजुर्ग पत्रकार की मृत्यु के ...
0
Facebook Featured इलेक्ट्रॉनिक मीडिया खास खबर दर्द-ए-बयां राज्य

वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर का बुधवार रात को नई दिल्ली के एक अस्पताल में निधन हो गया. वह 95 वर्ष के थे. कुलदीप नैयर काफी दशकों से पत्रकारिता क्षेत्र में सक्रिय थे. उन्होंने कई ...
0
Facebook Featured इधर उधर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया खास खबर दर्द-ए-बयां

अपने इस लेख में मास्टरस्ट्रोक कार्यक्रम के एंकर रहे पुण्य प्रसून बाजपेयी उन घटनाक्रमों के बारे में विस्तार से बता रहे हैं जिनके चलते एबीपी न्यूज़ चैनल के ...
1
Facebook Featured इधर उधर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया खास खबर दर्द-ए-बयां

‘आज अगर प्रभाष जी होते तो सरकार और विपक्ष दोनों के झूठ की ईंट से ईंट बजा देते। उनका अपना कोई एजेंडा नही था। जो था वो पत्रकारिता ...
0