आम सभा में मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति ने घोषित की चुनाव सञ्चालन समिति

तीन साल सकारात्मक सोच के साथ पत्रकारों के हित में काम किया : हेमंत तिवारी

meeting press roomलखनऊ। विधान भवन के प्रेस रूम में उत्तर प्रदेश की मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के अध्यक्ष हेमंत तिवारी द्वारा बुलायी गयी आम सभा की बैठक में अगले दो महीने के भीतर चुनाव प्रक्रिया सम्पन्न कराने का निर्णय लिया गया। वरिष्ठ पत्रकार वीर विक्रम बहादुर मिश्र को चुनाव कराने के लिए अधिकृत किया गया है। श्री मिश्र के नेतृत्व में पांच सदस्यीय चुनाव टीम गठित कर दी गयी है।जिसमें श्री अनिल अवस्थी, ज्ञानेंद्र शुक्ल, स्नेह मधुर और मोहम्मद कामरान शामिल हैं.
समिति की आम सभा की बैठक में तीन सौ से ज्यादा मान्यता प्राप्त पत्रकार शामिल हुए। इस बैठक में मान्यता समिति के अध्यक्ष हेमंत तिवारी के सामने तमाम पत्रकारों ने तमाम तल्ख सवाल रखे और हेमंत तिवारी ने सभी सवालों के जवाब दिये। उन्होंने कहा कि तीन साल तक मैं अध्यक्ष था, इसलिए सभी साथियों की बातें सुनता था। आगे भी जो साथी अपनी समस्या के साथ सम्पर्क करेंगे उनकी आगे भी मदद के लिए तैयार रहूंगा।
बैठक में मान्यता समिति के अध्यक्ष हेमंत तिवारी ने बताया कि समिति ने 12 अगस्त को तीन साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है। उन्होंने कहा कि हमने तीन साल तक सकारात्मक सोच के साथ पत्रकारों के हित में काम किया। उन्होंने बताया कि अपने इस कार्यकाल में हमने पत्रकारों के पीजीआई में इलाज की मुफ्त व्यवस्था करवाई। हमारी कोशिश अब पत्रकारों के परिवारों को भी यी सुविधा दिलवाने की है। इस सम्बन्ध में लगभग 80 फीसदी काम पूरा हो चुका है। उन्होंने ऐसी कई घटनाओं का जिक्र किया जिसमें पत्रकारों की मौत के बाद उनके परिवार को पीजीआई ने तब तक शव नहीं सौंपा जब तक कि उनके परिवार ने अस्पताल के बिल का पूरा भुगतान नहीं कर दिया। पत्रकारों को पीजीआई में मुफ्त इलाज की व्यवस्था कराने के लिए मुख्यमंत्री कार्यालय में कई बार पैरवी करनी पड़ी है।
श्री तिवारी ने बताया कि देश में पत्रकारों की स्थिति का अध्ययन करने के लिए बिहार, मध्य प्रदेश, केरल, झारखण्ड, छत्तीसगढ़ और राजस्थान का दौरा किया और वहां की सरकारों द्वारा पत्रकारों को दी जा रही सुविधाओं का अध्ययन करने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार को पच्चासी पेज की रिपोर्ट सौंपी है। इसमें पत्रकारों के लिए पेंशन, इंश्योरेन्स और ग्रुप मेडीक्लेम जैसी सुविधाओं की सिफारिश की गयी है।
हेमंत तिवारी ने बताया कि लखनऊ के मेयर डॉ. दिनेश शर्मा के आदेश पर नगर निगम ने यह फैसला किया है कि लखनऊ नगर निगम सीमा में रहने वाले मान्यता प्राप्त पत्रकारों के मकानों का गृह कर पचास फीसदी माफ कर दिया जाए। उन्होंने बताया कि विधान सभा के सामने बन रहे मुख्यमंत्री सचिवालय में आठ सौ पत्रकारों की क्षमता वाला कांफ्रेंस हाल, लाऊंज और सब्सिडी की सुविधा वाली कैंटीन की व्यवस्था करने का अनुरोध किया गया है।
मान्यता समिति के अध्यक्ष ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को अपनी बात कहने का अधिकार होता है। सबकी बात सुनी भी जानी चाहिए लेकिन बात कहने का कोई फोरम भी होना चाहिए। मान्यता समिति का चुनाव कराने की हड़बड़ी में कुछ पत्रकारों ने हाल के दिनों में जिस तरह की बयान बाजियां की हैं उससे राष्ट्रीय स्तर पर यूपी के पत्रकारों की छवि खराब हुई है।
आम सभा की बैठक में श्री तिवारी ने कहा कि मान्यता समिति के चुनाव कराने के लिए समिति की कार्यकारिणी ने शुरुआत कर दी है। उन्होंने वीर बहादुर मिश्र के नेतृत्व में चुनाव समिति का प्रस्ताव रखा जिसे आम सभा ने सर्व सम्मति से पारित कर दिया। अब समिति आपसी विचार विमर्श से चुनाव की तारीखों की घोषणा करेगी। 
बैठक में मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के सचिव सिद्धार्थ कलहंस, उपाध्यक्ष सत्यवीर सिह, संयुक्त सचिव  देवकी नन्दन मिश्रा, वरिष्ठ पत्रकार रामेश्वर “काका” पीटीआई के ब्यूरो प्रमुख प्रमोद गोस्वामी, सत्यवीर सिंह, हसीब सिद्दिक्की,अनूप श्रीवास्तव, दिलीप सिन्हा,वकार रिजवी, दिनेश शर्मा, मोहम्मद कामरान, नाइला किदवई, शिवसरन सिंह, शकील रिजवी, के. विश्वदेव राव, खुर्रम निजामी, अब्दुल वहीद, विनय राय, उन्मुक्त मिश्र, पवन सिंह, अनामिका सिंह, भास्कर दुबे, शाश्वत तिवारी, दिलीप सिंह अशोक तिवारी,सहित तीन सौ से अधिक मान्यता प्राप्त पत्रकार मौजूद थे।
Loading...
loading...