हिन्दुस्तान मीडिया वेंचर लिमिटेड में शोभना भरतिया के बेटे को शमित भरतिया को मैनेजिंग डायरेक्टर बनाया गया

हिन्दुस्तान मीडिया वेंचर लिमिटेड में शमित भरतिया को मैनेजिंग डायरेक्टर बनाया गया है। वे पांच साल तक इस पद पर बने रहेंगे। यह फैसला 4 फरवरी को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की मीटिंग में लिया गया।

हिन्दुस्तान मीडिया वेंचर ने इसकी सूचना नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) को दे दी है। कंपनी ने बताया कि उनकी नियुक्ति स्टेकहोल्डर्स की अनुमति मिलने पर की जाएगी। यह कंपनी ‘हिन्‍दुस्‍तान’ अखबार का प्रकाशन करती है और वर्ष 2009 में एचटी मीडिया (HT Media) से अधिग्रहण किए गए अन्य हिन्दी बिजनेस का संचालन भी करती है।

इससे पहले एक फरवरी को नेशनल स्टॉक एक्‍सचेंज को दी गई सूचना के अनुसार शमित भरतिया को एचटी मीडिया लिमिटेड में जाइंट मैनेजिंग डायरेक्टर की जिम्‍मेदारी से मुक्‍त कर दिया गया था। NSE को दी गई HT Media Limited द्वारा दी गई इस सूचना में बताया गया था, ‘शमित भरतिया को 31 जनवरी 2017 से कंपनी के जाइंट मैनेजिंग डायरेक्‍टर पद से हटा दिया गया है। हालांकि वह कंपनी में नॉन एग्जिक्‍यूटिव डायरेक्‍टर बने रहेंगे।’

शमित भरतिया एचटी मीडिया की चेयरपर्सन और एडिटोरियल डायरेक्‍टर शोभना भरतिया के पुत्र हैं। उल्‍लेखनीय है कि नोटबंदी (demonetisation) के बाद से कंपनी में काफी उथल-पुथल हो रही है। इस साल के शुरुआत में कंपनी अपने भोपाल, इंदौर, कोलकाता और रांची संस्‍करणों (editions) को बंद कर चुकी है। नई दिल्‍ली और मुंबई स्थित ब्‍यूरो कार्यालय बंद करने के अलावा इलाहाबाद, कानपुर और वाराणसी में भी इसके कार्यों पर रोक लग गई है।

loading...
Loading...

31 दिसंबर की समाप्ति तक तीसरी तिमाही (Q3) के परिणामों की घोषणा करते हुए शोभना भरतिया का कहना था कि फेस्टिवल सीजन के कारण हालांकि इस तिमाही की शुरुआत अच्‍छी हुई थी लेकिन बाद में इसमें कमी आ गई इससे अंग्रेजी व हिन्‍दी में प्रिंट बिजनेस के ऐडवर्टाइजिंग रेवेन्‍यू पर काफी प्रभाव पड़ा। उन्‍होंने कहा कि रेडियो बिजनेस की दिशा में सही काम हो रहा था और वे अपनी डिजिटल स्‍ट्रेटजी को आगे बढ़ाने वाले थे।

भरतिया का कहना था, ‘आर्थिक मोर्चे पर कमजोर होने के कारण हम अभी भी चुनौतियों का सामना कर रहे हैं।’ उन्‍होंने बताया कि वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही (Q3 FY 2017) में कुल रेवेन्‍यू 7,048 मिलियन रहा। पिछले वर्ष इसी तिमाही में (Q3 FY 2016) के मुकाबले ऐडवर्टाइजिंग रेवेन्‍यू 5.7 प्रतिशत तक घटा है। दूसरी ओर इसी अवधि में सर्कुलेशन रेवेन्‍यू 2.1 प्रतिशत बढ़ गया है। नोटबंदी के बाद एचटी मीडिया प्रिंट बिजनेस के रेवेन्‍यू ग्रोथ को हासिल करने का प्रयास कर रहा है। इसके अलावा कंपनी डिजिटल के द्वारा भी अपना रेवेन्‍यू बढ़ाने की इच्‍छुक है। (Q3 FY 2017) में डिजिटल कंटेंट औरShine.com से रेवेन्‍यू की ग्रोथ क्रमश: 21 और 29 प्रतिशत हो गई है।

Loading...
loading...