4पीएम पर हमले का सच: पुलिस और प्रशासन को निजी हितों के लिए गुमराह कर रहे हैं संजय शर्मा

विवाद शुरू हुआ कैमेस्ट्री कैफ़े पे हुक्का पी रहे शख्श अहमद ज़ैदी और संजय शर्मा के ऑफ़िस एम्प्लॉई सोनू के बीच जिसमे चश्मदीदों की माने तो पहले अहमद जैदी को हुक्का पीने को लेके मारा 4PM के एम्प्लाई सोनू ने।

क्या है पूरा मामला
अहमद जैदी अक्सर कमेस्ट्री रेस्त्रां में हुका पीने आता रहता केमिस्ट्री.. कल वो अपनी गाड़ी पे बैठा था तभी संजय शर्मा जी 4PM के दफ़्तर से सोनू नाम लड़का निकला और उसे कुछ वाद-विवाद करने लगा उसके विरोध करने में उसने हुक्का पीने का लाइसेनस माँगने लगा इसपे अहमद जैदी ने अपनी उम्र 20 साल बताते हुए सोनू से पूछा कि मैं आपको क्यूँ दिखाऊँ और आप का इससे क्या लेना-देना है आप police को बुलाओ मैं उन्हें दे दूँगा..बस अहमद का इतना जबाब देना 4PM के एम्प्लॉई सोनू कक गवारा न हुआ और उसने अहमद को उसके दोस्तों के सामने ही 4, 5 तमाचा मार दिए। अहमद ने उक्त घटना को अपने बड़े भाई व मित्रों को बताई, फ़ोन करने के बाद जब उसके बड़े भाई और मित्र पहुंचे तो आस-पास के लोगों ने बताया कि वो 4PM में काम करते हैं, जिसकी पूछताछ की भावना से वो दफ्तर के अंदर गए और उस लड़के को बाहर बुलाने को कहा। फिर अंदर से कुछ पुरुष और महिला कर्मचारी निकले जो लड़कों को गाली देने लगे और 4PM के मालिक का रसूख दिखाते हुए धमकी दी कि हैट जाओ नही तो एक एक को SO से उठवा दूंगी।

बस उस बात पे लड़के थोड़ा गुस्सा हो गये की एक तो ग़लती की उसके बाद धमका भी रही हैं उसी बात पे 2 लड़के रिसेप्शन से अंदर गये की उसको बाहर निकालो पूछा तो जाए क्यूँ मारा बस उसी बात पे कुछ धक्का मुक्की हो गयी, उसके बाद किसी ने १०० नम्बर में फ़ोन किया पोलिस आ गयी वहाँ मौजूद लोगों ने police को पूरी घटना की जानकारी दी ग़लती 4PM के एम्प्लोयी सोनू की थी तो police उसको गोमती नगर थाने ले गयी उसके बाद अहमद ज़ैदी की तरफ़ से तहरिर दी गयी और बाद वहाँ मौजूद कुछ police वालों ने इतना बड़ा मामला ना होने के वाजह से सुलहनामॉ करा दिया गया। उक्त घटना में संजय शर्मा ने 4PM के ऑफिस में पुलिस की एंट्री का वीडियो को मीडिया ओर प्रशासन को ग़ुमराह करने के उद्देश्य से जानबूझ के छुपाया। और 19 जुलाई की 4 से 5 बजे गोमती नगर थाने में हुई सुलहनामे की CCTV फुटेज को निकाल के विवेचना अधिकारी देख सकते हैं  जिसमे 4PM के एम्प्लाई सोनू और अहमद जैदी और उसके भाई दिखेंगे।

सुलहनामे के बाद दोनों पक्ष अपने अपने घर जा चुके थे, पर जब मामला 4PM के मालिक संजय शर्मा को पता चली तो उन्होंने बड़े ही शातिराना तरीक़े से इसे अपने रसूख और प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए योगी सरकार की छवि को धूमिल करने और अपने निजी हितों की पूर्ति के ईरादे से इसे अपने दफ़्तर पे हमला साबित कर लोगों से सहानभूति ले रहे हैं।

loading...
Loading...

जिसमे मीडिया जगत और समाजवादी पार्टी के लोगों के जरिये प्रशासन पे निरंतर दवाब बनाये हुए हैं जाँच के उद्देश्य से पुलिस ने कैमेस्ट्री कैफे की CCTV के DVR को अपने कब्ज़े में ले लिया है।

प्रशासन से अनुरोध है कि वो संजय शर्मा से 4:11 से लेके 4:30 बजे तक का CCTV फुटेज भी जारी करें जब पुलिस ने उनके एम्प्लॉई सोनू को उनके दफ़्तर से लेके गोमती नगर थाने ले गयी थी। जिससे मामले की निष्पक्ष जाँच हो सके।

शेखर पंडित के फेसबुक वाल से

Loading...
loading...