#MeToo: अकबर मामले में प्रिया रमानी को समन, बोलीं- आपबीती सुनाने का वक्‍त आ गया

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने पत्रकार प्रिया रमानी को समन जारी करके उन्हें 25 फरवरी को अदालत के सामने पेश होने के लिए कहा है. स्क्रोल डॉट इन के मुताबिक प्रिया रमानी को यह समन पूर्व केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर की तरफ से दर्ज कराए गए मानहानि के एक मामले में भेजा गया है. इस पर प्रिया रमानी ने एक ट्वीट में लिखा है, ‘कोर्ट को अपने पक्ष की वास्तविकता बताने का वक्त आ गया है.’

मानहानि के इस मामले में पटियाला हाउस कोर्ट ने पिछली सुनवाई इसी महीने की 22 तारीख को की थी. तब अदालत ने मामले की आरोपित प्रिया रमानी के खिलाफ समन भेजे जाने का फैसला सुरक्षित कर लिया था.

इससे पहले बीते साल अक्टूबर में ‘#मीटू अभियान’ के दौरान प्रिया रमानी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे. तब एक ट्वीट में प्रिया रमानी ने लिखा था कि 20 साल पहले एक अंग्रेजी दैनिक के संपादक के पद पर काम करते हुए एमजे अकबर ने उनका शोषण किया था. प्रिया रमानी के उस आरोप के बाद कई अन्य महिलाओं ने भी एमजे अकबर के खिलाफ आवाज बुलंद करते हुए उन पर शोषण के आरोप लगाए थे.

loading...
Loading...

तब एमजे अकबर ने उन तमाम आरोपों को खारिज करते हुए उन्हें ‘राजनीति से प्रेरित’ बताया था. इसके अलावा बीते साल ही उन्होंने प्रिया रमानी के खिलाफ आपराधिक मानहानि का मुकदमा भी दर्ज कराया था. उनका कहना था कि प्रिया रमानी द्वारा लगाए आरोपों से वर्षों की कड़ी मेहनत के बाद हासिल की गई उनकी साख को नुकसान पहुंचा है. यौन शोषण के उन आरोपों की वजह से ही एमजे अकबर को बीते अक्टूबर में विदेश राज्य मंत्री के पद से इस्तीफा भी देना पड़ा था.

Loading...
loading...