हिमाचल प्रदेश के पत्रकार अजय पठानिया का उनके ही दोस्त ने किया मर्डर

अजय पठानिया

कुल्लू (हिमाचल प्रदेश) घाटी के कसोल के समीप जरी में पालमपुर के 30 वर्षीय पत्रकार अजय पठानिया का दोस्त ने ही मर्डर कर दिया. पेशे से इलेक्ट्रीशियन बताया जा रहा आरोपी सुभाष कौंडल उर्फ बंटू फरार है. इसकी तलाश नजदीक के जंगलों में की जा रही है. प्रारंभिक जांच में खुलासा हुआ है कि पालमपुर से अजय, सुभाष व रमेश घूमने के लिए मणिकर्ण आए हुए थे. इसी दौरान कसोल के नजदीक होटल में कमरा बुक किया गया.

loading...
Loading...
आधी रात के वक्त अजय व सुभाष के बीच कहासुनी के बाद झगड़ा हो गया. होटल का कमरा खाली करने के बाद तीनों ही कमरे से निकल गए. टैक्सी में अचानक सुभाष ने पत्रकार अजय पठानिया पर चाकू से 3-4 बार हमला कर दिया. इसके बाद वह गाड़ी से उतर कर फरार हो गया. टैक्सी चालक व रमेश ने घायल अवस्था में अजय को नजदीकी स्वास्थ्य संस्थान में पहुंचाया, जहां उसे चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया. एएसपी एनएस नेगी ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि आरोपी की तलाश की जा रही है. उन्होंने कहा यह घटना रात करीब एक बजे के आसपास घटित हुई. एएसपी ने कहा कि आरोपी के जंगलों में छिपे होने की आशंका है.

पर्यटन नगरी कसोल में पालमपुर के पत्रकार अजय पठानिया की निर्मम हत्या की प्रेस क्लब कुल्लू ने जहां निंदा की है, वहीं इस घटना पर दुख भी प्रकट किया है. प्रेस क्लब ने इस दुख की घडी में अजय के परिवार को दुख सहन करने की कामना की है और साथ ही पुलिस से मांग की है कि हत्यारे को शीघ्र गिरफ्तार किया जाए और घटना को अंजाम देने के कारणों का पता लगाया जाए. प्रेस क्लब के प्रधान धनेश गौतम ने कहा कि अजय पठानिया ईमानदार, मेहनती, नेक व भावुक इंसान थे. उन्होंने कहा कि अजय ने अपना पूरा जीवन मीडिया क्षेत्र में बिताया. उन्होंने दिव्य हिमाचल से शुरुआत की थी और इसके बाद दैनिक जागरण, आपका फैसला, पहली खबर के अलावा कई सप्ताहिक समाचार पत्रों में भी कार्य किया. उन्होंने कहा कि अजय के पास तीन वर्षों तक कुल्लू मंडी का भी प्रभार रहा था और यहां भी वे अपने कार्य के लिए समय-समय पर आते रहे हैं और सभी पत्रकारों से उनका व्यवहार काफी मधुर था.

Loading...
loading...