दैनिक ‘सन्मार्ग’ ने जिन्दा प्रखंड प्रमुख को मार डाला

sanmargक्या जोनल आईजी करेंगे इस गलत छपी खबर पर कार्यवाई

पटना से प्रकाशित हिन्दी अखबरों में छपी खबर की विश्वसनीयता कितनी है वह पटना से प्रकाशित दैनिक ‘सन्मार्ग’ के प्रथम पृष्ठ पर छपी एक खबर से स्पष्ट है। यह खबर शुक्रवार की शाम कच्ची दरगाह के पास एके-47 से भून दिए गए लोजपा नेता वृजनाथी सिंह की हत्या से संबंधित खबर है। इस खबर मेंयह लिखा गया है कि हमलावरों की गोली से गंभीर रुप से घायल वृजनाथी सिंह की भावज मुन्नी देवी देवी की भी इलाज के दौरान मौत हो गई। गौरतलब है कि मुन्नी देवी राघोपुर प्रखंड की प्रखंड अध्यक्ष भी है। घटना के वक्त वह उस गाड़ी मेंसवार ही नहीं थी जिस स्कार्पियो पर हमला कर हमलावरों ने वृजनाथी सिंह की हत्या की। हां गाड़ी सवार बृजनाथी सिंह की पत्नी और एक अन्य भावज जरुर घायल हुई जिनकी स्थिति अब खतरे से बाहर है। दैनिक ‘सन्मार्ग’ में आज गलत छपी इस खबर को पढ़कर पूरे राघोपुर इलाके मेंतनाव फैल गया है और लोग मुन्नी देवी का हालचाल लेने के लिए जुटे हैं जिसे अखबार ने मृत घोषित कर दिया। अब सवाल यह उठ रहा है कि पटना में पूर्व एसएसपी रह चुके और वर्तमान में पटना के जोनल आईजी विद्वेश और समाज में तनाव फैलाने वाली इस झूठी खबर पर संज्ञान लेंगे। गौरतलब है कि अपने एसएसपी काल में गलत खबर पर कुंदन कृष्णन ने कई मर्तबा अखबार और उसके प्रबंधन को नोटिस भेजा था जिसके बाद तमाम समाचार पत्रों में अरफा-तफरी मच गई थी।

loading...
Loading...
Loading...
loading...