हिंदुस्तान के संपादक शशिशेखर पर ‘मजीठिया मंच’ का बड़ा हमला !

logobखबर है कि हिन्दुस्तान के प्रधान संपादक और शोभना भरतिया के साथ 200 करोड़ के विज्ञापन घोटाले के सह अभियुक्त् शशि शेखर ने रांची में बुधवार की शाम गुपचुप तरीके से झारखंड के श्रमायुक्त से मुलाकात की है। वैसे भी इस मामले में प्रधान संपादक महोदय की छवि संपादकों वाली कम दूसरी वाली ज्यादा रही है।

महत्वपूर्ण है कि सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के ठीक कुछ दिन पहले इस तरह की गुपचुप मुलाकात का क्या मतलब हो सकता है। एक तो यह कि शशि शेखर उत्तर प्रदेश विभिन्न शहरों में जिस काम के लिए विख्यात हैं, वही काम झारंखंड में भी करना चाह रहे हैं। क्या संपादकों(इसे अन्यथा न लें) का काम सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ अधिकारियों को डराने-धमकाने और फुसलाने भर रह गया है।

शशि शेखर जी हम हम आपकी तुलना सीवान के शहाबुद्दीन से नहीं करना चाहते। याद है न आपने अपने एक पत्रकार साथी की हत्या पर अपने अखबार के पहले पन्नेनपर क्या लिखा था।

loading...
Loading...

मजीठिया मामले में आपका यह रवैया शहाबुद्दीन से भी घृणित है। गरीब पत्रकार साथियों को देखिए और अपनी लाटसाहबी और ठाट देखें।

Loading...
loading...