ब्रजेश मिश्रा ने ETV-UP को कहा अलविदा!

brajesh-mishraउत्तर प्रदेश में ख़बरों की दुनिया के ‘बादशाह’ माने जाने वाले ईटीवी के सीनियर एडिटर ब्रजेश मिश्रा ने ETV-UP को अलविदा कह द‌िया है। सूत्रों की मानें तो अब वह किसी बड़े प्रोजेक्ट पर काम करेंगे।

ब्रजेश मिश्र ने सोशल मीडिया की दुनिया पर खबर ब्रेक कर जनता में तहलका मचाने का नया ट्रेंड शुरू किया था। साल 2004 में लखनऊ में इलेक्ट्रानिक मीडिया की नयी-नयी टीम बनी थी। इस टीम को बतौर कैप्टन जो चेहरा मिला, उसने जर्नलिज्म की दुनिया में एक नया कीर्तिमान स्थापित किया। मीडिया पर्सन के तौर पर ब्रजेश मिश्रा की सुपर सक्सेस ने युवा पत्रकारों को प्रेरित किया। उत्तर प्रदेश में ईटीवी को ब्रजेश मिश्रा के नाम से ही पहचान मिली। ईटीवी की पहचान बन चुके बन चुके बृजेश मिश्रा लोगों को रिमोट का बटन दबाने से पहले सोचने पर मजबूर कर देते थे उनके टॉक शो ‘प्राइम डिबेट’ ने TRP की दुनिया में नए कीर्तिमान स्थापित किये। साल 2016, सितंबर- लखनऊ की सभी प्राइम जगहों पर होर्डिंग लगे हैं। ईटीवी पर प्राइम डिबेट ब्रजेश मिश्रा के साथ।

ब्रजेश मिश्रा का साथ पाकर ईटीवी बना नम्बर-1”

loading...
Loading...

ब्रजेश मिश्रा के आने से पहले ईटीवी की पहचान एक न्यूज चैनल की कम और एंटरटेनमेंट चैनल की अधिक थी। मालूम हो कि 2003 में एक और चैनल सहारा समय यूपी में लॉन्च हुआ था। देखते ही देखते सहारा समय ईटीवी से काफी आगे निकल गया था। लेकिन ब्रजेश मिश्रा के आन के बाद तो ईटीवी को जैसे संजीवनी ही मिल गई। आज हालत ये हैं कि खबरों के मामले में ईटीवी का कोई जवाब नहीं है। समाजवादी कुनबे में संकट आया तो शिवपाल यादव और रामगोपाल यादव ईटीवी के स्टूडियों में ब्रजेश मिश्रा के साथ थें। जबकि दूसरे मीडिया समूह इन नेताओं की एक-एक बाइट के लिए भटक रहें थे। कोई शक नहीं कि, ब्रजेश मिश्रा इस वक्त उत्तर प्रदेश में इलेक्ट्रानिक मीडिया के सुपर ब्रॉन्ड बन चुके हैं।

Loading...
loading...