योगी सरकार में अपराधियों के हौसले बुलंद, मीडियाकर्मी को दे डाली जान से मारने की धमकी

गाजीपुर। योगी सरकार में अपराधियों के हौसले बुलंद हो गए हैं। प्रदेश में योगी सरकार बनते ही एक निर्देश जारी हुआ था कि पत्रकारों से दुर्व्यवहार संज्ञेय अपराध की श्रेणी में आयेगा। लेकिन इस सरकार में पत्रकार ही सुरक्षित नहीं तो अन्य लोगों की सुरक्षा की गारंटी सरकार कैसै दे सकती है। गाजीपुर में एक पत्रकार को बदमाशों ने रंगदारी के लिए जान से मारने की धमकी दे दी।

loading...
Loading...
 
गाजीपुर के एक मान्यता प्राप्त पत्रकार से 10 लाख की रंगदारी मांगने और रंगदारी न देने पर जान से मारने की धमकी का मामला प्रकाश में आया है। अनिल उपाध्याय जनपद के मान्यता प्राप्त पत्रकार हैं। इनके भाई सुनील उपाध्याय के मोबाइल पर दोपहर के करीब 3.15 पर एक फोन आया और फोन करने वाले ने कहा कि मैं शिवा बिन्द बोल रहा हूं, और अनिल उपाध्याय से बात करनी है। उन्होंने कहा कि क्या काम है तो फोन करने वाले शिवा बिंद ने कहा कि 10 लाख रूपये चाहिये। इस पर सुनील ने कहा कि किस बात के 10 लाख रूपये तो शिवा बिन्द ने कहा कि रंगदारी के 10 लाख रूपये मांग रहा हूं।
 विरोध करने पर शिवा ने अपशब्द सुनाते हुए बोला कि पैसा नहीं दिया तो मरने की तैयारी कर लेना। इस धमकी भरे फोन काल से घबराकर अनिल उपाध्याय और सुनील उपाध्याय एसपी सिटी के यहां पहुंचे और उन्हें प्रार्थनापत्र दिया। इस पर तत्काल कार्रवाई करते हुये एसपी सिटी ने मुकदमा दर्ज करने का आदेश देते हुये क्राइम ब्रांच और सर्विलांस प्रभारी को तत्काल मामले को गंभीरता से लेने और उसपर कार्रवाई करने का निर्देश दिया। फिलहाल मामले में मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई प्रारंभ कर दी गयी है पर बड़ा प्रश्न ये खड़ा होता है कि प्रदेश में सुशासन लाने का दावा करने वाली योगी सरकार क्या ऐसे अपराधियों पर लगाम कस पायेगी।
Loading...
loading...