एंबुलेंस घोटाले को लेकर CM योगी हुए सख्त, जनता का हक लूटने वालों को BJP भेजेगी जेल

लखनऊ। यूपी में बीजेपी की सरकार बनने के बाद बसपा की तरह समाजवादी पार्टी सरकार के कारनामे भी सामने आने लगे हैं. सीएम योगी के मंत्री सूबे की पूर्व सरकार के कार्यकाल में हुए कार्यों का बड़ी बारीकी से परिक्षण करने में लगे हैं. जिसके चलते अब सपा सरकार का एंबुलेंस घोटाला भी सामने आ गया है. इससे ये बात साफ हो गयी है कि बसपा सुप्रीमो मायावती की तरह सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी अपनी सरकार के कार्यकाल में भ्रष्टाचार के सारे रिकार्ड तोड़ दिए. फिलहाल बीजेपी ने ये बात साफ कर दी है कि इन घोटालों को योगी सरकार ने काफी गंभीरता से लिया है और इसकी जाँच के आदेश किये जा चुके हैं. इतना ही नहीं बीजेपी का कहना है कि जनता का हक लूटने वाले लोग जेल भेजे जायेंगे.

गरीबों को उनका हक दिलाएगी योगी सरकार 

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा कि सरकार एंबुलेंस घोटाले की गंभीरता से जांच करा रही है और आम लोगों का हक लूटने वाले लोग जेल भेजे जाएंगे. उन्होंने बताया कि सपा सरकार में हुआ ये घोटाला सामने आने के साथ ही दलितों-पिछड़ों और गरीबों की बात करने वाली सपा-बसपा का चेहरा भी सामने आ गया है. एनएचएम विभाग में हुए इस घोटाले के चलते ही गरीब लोगों को मिलने वाली सुविधाएं अभी तक उन तक नहीं पहुंच पाई हैं. तमाम सरकारी योजनाओं की हालत बद से बदतर है. उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार अब गरीबों को उनका हक दिला कर ही रहेगी. सरकार ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सख्त कदम उठाएगी. जिनके रहते एंबुलेंस घोटाला हुआ.

जाँच शुरू होते ही भ्रष्टाचारियों में मचा हड़कंप

loading...
Loading...

त्रिपाठी ने कहा कि बसपा सरकार में भी अरबों रूपए का एनआरएचएम घोटाला हुआ था. इस घोटाले के चलते कई अफसरों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी थी. कई अफसर और तत्कालीन सरकार के नेता इस मामले में जेल भी गए. घोटाले की आंच तत्कालीन मुख्यमंत्री तक भी पहुंची थी. ऐसे में सरकार तो बदली पर घोटाले का ये सिलसिला सपा सरकार में भी नहीं रूका. इस सरकार में एनएचएम घोटाला हुआ, जिसके तहत आम लोगों को मिलने वाली सरकारी एंबुलेंस सेवा का पैसा लूटे जाने की बात अब सामने आ रही है, ये बेहद गंभीर प्रकरण है. योगी आदित्यनाथ की सरकार इस घोटाले में शामिल घोटालेबाजों को कतई नहीं बख्शेगी. सरकार ने घोटाले की जांच शुरू करा दी है. भ्रष्चाचार के खिलाफ ये योगी आदित्यनाथ सरकार का एक और बड़ा कदम है. जिसके चलते भ्रष्टाचारियों में हड़कंप मचा हुआ है.

कार्रवाई की नजीर पेश करेगी योगी सरकार 

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि पिछली सरकार के दौरान हुए इन घपलों का ही नतीजा है कि तमाम योजनाओं को जरिए आम लोगों के लिए केंद्र सरकार की तरफ से भेजे जा रहे पैसे का पूरी तरह सदुपयोग नहीं हो पाया है. जिन योजनाओं के जरिए केंद्र सरकार गरीबों की बेहतरी करने में जुटी हुई है उन योजनाओं का एक बड़ा हिस्सा पिछली सरकार के दौरान भ्रष्टाचारियों की जेब में गया. स्कूली बच्चों को ना तो ढंग  की यूनीफार्म और किताबें मिली, ना ही सरकारी अस्पतालों में आम लोगों को दवाइयां. लेकिन अब प्रदेश में योगी आदित्यनाथ दृढता के साथ ईमानदारी और पारदर्शी सरकार चलाने में जुटे है. यही वजह है कि एक के बाद एक कर पूर्व सरकार में हुए घोटाले सामने आ रहे हैं. योगी आदित्यनाथ की सरकार इन घोटालों में शामिल भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की नजीर पेश करेगी ताकि उत्तर प्रदेश से भ्रष्टाचार का सफाया हो सके.

Loading...
loading...