नेशनल हेराल्ड मामले की अहम जानकारी देखें इस वीडियो में

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके बेटे राहुल गांधी नेशनल हेराल्ड मामले में अब पूरी तरह घिरते नजर आ रहे हैं। दिल्ली हाईकोर्ट ने इस पूरे मामले की जांच को रुकवाने की कोशिश कर रहे गांधी परिवार को झटका दे दिया। आयकर विभाग को जांच करने के लिए न्यायपालिका की हरी झंडी मिलने से गांधी परिवार की नींद उडना लाजिमी है।

(वीडियो साभार: रिपब्लिक समाचार)

loading...
Loading...

मतलब साफ है, अब सोनिया और राहुल को अदालत में पेश होना पड़ेगा। हाईकोर्ट ने दोनों नेताओं को इस केस में पेशी से छूट देने से इनकार कर दिया है। सोनिया और राहुल के अलावा कांग्रेस कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा, आस्कर फर्नाडिस और सुमन दुबे को भी निचली अदालत में पेश होना होगा। इस बीच रिपब्लिक समाचार चैनल ने इस मामले से जुडे कुछ अहम दस्तावेज मिलने का दावा किया है। चैनल के वीडियो में इन दस्तावेजों का अहम खुलासा किया गया है। माना जा रहा है कि आयकर विभाग के पास ऐसे दस्तावेजों से जांच तार्किक परिणति तक पहुंचना तय है।

नेशनल हेराल्ड को चलाने वाली कंपनी एसोसिएट जर्नल्स ने कांग्रेस पार्टी से बिना ब्याज के 90 करोड़ का कर्ज लिया। लेकिन इसके बावजूद नेशनल हेराल्ड अखबार का प्रकाशन इसके बावजूद दोबारा कभी शुरू नहीं हुआ। 26 अप्रैल 2012 को यंग इंडिया कंपनी ने एसोसिएटेड जर्नल्स का मालिकाना हासिल कर लिया।

यंग इंडिया कंपनी में 76 फीसदी शेयर सोनिया गांधी और राहुल गांधी के हैं। इनमें से 38 फीसदी सोनिया गांधी और 38 फीसदी राहुल गांधी के हैं। इस तरह से यंग इंडिया ने हेराल्ड की 1600 करोड़ की परिसंपत्तियां महज 50 लाख में हासिल कीं। यहीं सोनिया गांधी और राहुल गांधी के इरादे को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं।

Loading...
loading...