सामना में आलोचना से भड़के पर्रिकर, कहा- अखबार का संपादकीय फर्जी खबरों पर आधारित

पणजी। गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने रविवार को कहा कि शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ का उनकी आलोचना करने वाला वह संपादकीय ‘फर्जी खबरों’ पर आधारित है, जिसमें कहा गया था कि 23 अगस्त के उप चुनाव में हारने का पर्रिकर पर कोई असर नहीं पड़ेगा और वह फिर से केंद्र में लौटकर रक्षा मंत्रालय संभाल लेंगे.

छात्रों के साथ शनिवार को बातचीत में पर्रिकर ने कहा कि इस फर्जी खबर के पीछे ‘कांग्रेस के डर्टी ट्रिक्स विभाग’ की साजिश है. उन्होंने कहा कि वह भारी अंतर से उप चुनाव जीतेंगे. पर्रिकर ने छात्रों से कहा, “हमारे विरोधियों ने एक फर्जी खबर की साइट शुरू की है और मैंने किसी मीडिया से नहीं कहा है. मेरी किसी बात की कोई गलत व्याख्या नहीं हुई है क्योंकि मैंने कुछ कहा ही नहीं है. उन्होंने एक खबर पैदा की और इसे हर जगह फैला दिया. उन्होंने ऐसा ‘प्राइम गोवा न्यूज’ के नाम के जरिए किया.”

स्थानीय केबल न्यूज चैनल ‘प्राइम न्यूज गोवा’ ने भी पुलिस और चुनाव अधिकारियों से शिकायत की है और इसे फर्जी खबर बताया है. मुख्यमंत्री की हार की बात करने वाली इस खबर को एक वेबसाइट के जरिए बनाया गया, जिसे न्यूज चैनल की फर्जी पहचान दे दी गई. जिस वेबसाइट ने इस फर्जी खबर को फैलाया, वह वर्तमान में ऑफलाइन हो गई है.

पर्रिकर ने कहा, “मैं हर जगह जाकर नहीं बता सकता कि खबर फर्जी है. लेकिन यह इंटरनेट और व्हाट्सएप पर फैल गई. जो मुझसे कुढ़े बैठे हैं, उन्होंने इसे फैला दिया.”

loading...
Loading...

सामना के शुक्रवार के संस्करण में कहा गया था, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पर्रिकर को गोवा के मुख्यमंत्री पद से उठाकर रक्षा मंत्रालय लाए, वहां विफल रहने के बाद वह फिर से राज्य में लौट गए. अब वह यह कह रहे हैं कि यदि वह उपचुनाव में वास्तव में हार गए तो वह केंद्र में रक्षा मंत्री के रूप में लौट आएंगे.”

पर्रिकर ने छात्रों को दूसरी फर्जी खबरों को लेकर भी चेताया और कहा कि इस तरह की खबरें 23 अगस्त के उपचुनाव के समाप्त होने तक जारी रहेंगी.

Loading...
loading...