अमर उजाला में मजीठिया का एरियर कर्मचारियों के खाते में पहुंचा

अमर उजाला में मजीठिया का एरियर कर्मचारियों के खाते में पहुंचा
अमर उजाला से एक बड़ी खबर आ रही है। खबर है कि अमर उजाला ने एक बार फिर उन हिंदी अखबारों को मुंह चि़ड़ाया है जो मजीठिया न देने की लड़ाई अपने ही कर्मचारियों के खिलाफ कोर्ट में लड़ रहे हैं।
सूत्रों ने बताया कि अमर उजाला ने अपने संस्थान में मजीठिया की सिफारिशें लागू करना शुरू कर दिया है। पहले उसने सबके पैसे बढ़ाए फिर उसने नाइट अलाउंस दिए और अब खबर आ रही है कि यहां सभी सब एडिटर को एरियर भी दे दिया गया है। एरियर की रकम पचास से एक लाख रुपये के बीच बनी है। चूंकि अमर उजाला मजीठिया की नीति के तहत छठे कटेगरी में है इसलिए उसकी रकम भी कम है। पर एक छोटा सा अखबार जब इतना साहस कर सकता है तो तीन सौ से चार सौ करोड़ रुपये सलाना फायदा कमाने वाले अखबार अपने यहां क्यों नहीं लागू कर सकते। पर जो भी हो अमर उजाला ने इस मामले में सभी अखबारों को पीछे छोड़ दिया है। पर अमर उजाला में एक बात का रोष है कि मजीठिया का फायदा सबसे ज्यादा सब एडिटरों को मिला है इसलिए चीफ सब एडिटरों के लोग अपने काम भी सब एडिटरों पर थोंपने लगे हैं। इसलिए दफ्तरों में तनाव का माहौल हो गया है। हालांकि एरियर चीफ सब से उपर के लोगों को मिलेगा या नहीं इसके बारे में तो पता नहीं पर यदि उन्हें मजीठिया के तहत नाइट अलाउंस मिल रहा है तो देर सवेर उनके भी खाते में एरियर की रकम जाएगी ही इतना तो तय है। इसलिए परेशान न हो समय का इंतजार करें प्रबंधन आपका पैसा मारेगा नहीं।

loading...
Loading...
Loading...
loading...