दैनिक जागरण के खिलाफ कर्मचारियों में उबाल

दैनिक जागरण के खिलाफ कर्मचारियों में उबाल
नई दिल्ली। मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों को लागू करने की मांग को लेकर संघर्ष कर रहे कर्मचारियों को निलंबित करने की कार्रवाई के खिलाफ जागरण कर्मचारियों में जबरदस्त उबाल है।
सोमवार को कर्मचारियों ने नोएडा, हिसार, जालंधर, धर्मशाला में सड़कों पर उतरकर जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान इन सभी जगहों पर कर्मचारियों ने डीएलसी कार्यालयों के बाहर नारेबाजी भी की। कर्मचारियों ने इस दौरान आम लोगों से दैनिक जागरण अखबार ना पढ़ने की अपील की और जागरण के मलिकानों द्वारा की जा रही उच्चतम न्यायालय की अवमानना के बारे में बताया। नोएडा में 500 से अधिक कर्मचारी सुबह एसपी सिटी के कार्यालय पर एकत्रित हुए और वहां से नारेबाजी करते हुए डीएलसी कार्यालय पहुंचे। इस दौरान जागरण कर्मचारियों ने जोशो खरोश से अखबार मालिकों के खिलाफ नारेबाजी की और अंतिम सांस तक मजीठिया की लड़ाई लड़ने का संकल्प लिया। हिसार में टाउन हाल में कर्मचारियों ने धरना दिया। जागरण कर्मचारियों के इस आंदोलन को कई संगठनों का समर्थन मिल रहा है। इधर, राजधानी दिल्ली और नोएडा स्थित अखबार और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के दफ्तरों में जागरण कर्मचारियों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई की लोग जमकर निंदा कर रहे हैं। साथ ही दिल्ली एनसीआर में रहने वाला बुद्बिजीवी वर्ग दैनिक जागरण की घटिया हरकतों के बारे में भी चर्चा कर रहा है। अगले क्रम में जागरणकर्मी केंद्रीय मंत्रियों, सांसदों, दिल्ली उच्च न्यायलय और उच्चतम न्यायालय के न्यायधीशों के घर जाकर उन्हें जागरण के मालिकानों की घटिया हरकतों के बारे में जानकारी देंगे। साथ ही पॉश कालोनियों व् मोहल्लों में जाकर आम लोगों से दैनिक जागरण ना पढ़ने के लिए भी जोरदार अभियान चलाये जाने की तैयारी है। बहरहाल, कर्मचारी पूरी तरह जोश में हैं और सुप्रीम कोर्ट के सम्मान की लड़ाई लड़ने को खुद को तैयार कर चुके हैं।

loading...
Loading...
Loading...
loading...