एकजुट होने लगे सहारा कर्मी, सेलरी के लिए किया प्रबंधन का घेराव

सहारा कर्मी अपनी सेलरी के लिए एकजुट होने लगे हैं. सहारा मीडिया में सेलरी संकट और कर्मचारियों की अंदरखाने एकजुटता की खबर भड़ास पर प्रकाशित होने के कुछ घंटे के बाद ही सहारा के नोएडा आफिस में कई महीने से सेलरी न मिलने से नाराज सहारा कर्मियों ने प्रबंधन का घेराव कर लिया. आंदोलनकारी कर्मियों ने भड़ास को एक मेल के जरिए जानकारी दी कि कर्मचारियों की एकजुटता और घेराव देखकर वहां मौजूद सभी एचओडी अपनी अपनी केबिन में भाग निकले.

सहारा कर्मियों ने सुब्रत राय के प्रतिनिधि के तौर पर बैठे प्रबंधन के एक शख्स गौतम सरकार का पकड़ लिया और उनका घेराव किया. गौतम सरकार से सहारा कर्मियों ने तुरंत सेलरी देने की मांग रखी. इस पर हड़बड़ाए गौतम सरकार ने अड़तालीस घंटे का समय मांगा और सेलरी देने का वादा किया. इस घटना से सहारा मीडिया के वरिष्ठों के भी कान खड़े हो चुके हैं.

loading...
Loading...

दरअसल सुब्रत राय और सहारा के पास पैसे की दिक्कत नहीं है. जेल संकट के नाम पर सारा ठीकरा कर्मचारियों पर फोड़ने की रणनीति प्रबंधन ने बनाई हुई है. ये लोग सेलरी देने के लिए पैसे तभी निकालेंगे जब कर्मचारी एकजुट होकर वरिष्ठों के केबिन में धावा बोलेंगे, उनका घेराव करेंगे और बंधक बनाएंगे. माना जा रहा है कि देर सबेर नोएडा से लेकर लखनऊ, पटना, देहरादून हर जगह सहारा कर्मी अपने अपने मीडिया हेड, संपादक, प्रबंधक आदि का घेराव कर उन्हें बंधक बनाएंगे. ऐसी स्थिति में सहारा में देर सबेर सामूहिक हड़ताल होने की भी संभावना है. प्रत्येक यूनिट के कर्मी अब आपस में संपर्क कर एकजुट होने लगे हैं.

Loading...
loading...