द मिलि गैजेट वेब पोर्टल के पत्रकार पुष्प शर्मा से पूछताछ

द मिलि गैजेट वेब पोर्टल के पत्रकार पुष्प शर्मा से पूछताछ नई दिल्ली: द मिलि गैजेट वेब पोर्टल में काम करने वाले पत्रकार पुष्प शर्मा से दिल्ली पुलिस पूछताछ कर रही है। आयुष मंत्रालय के अधिकारियों का आरोप है कि पुष्प शर्मा ने एक फर्जी आरटीआई के जरिए मंत्रालय को बदनाम करने की कोशिश की। उस आरटीआई में कहा गया था कि मंत्रालय में मुस्लिम योग ट्रेनर भर्ती करने का कोई प्रावधान नहीं है।

पत्रकार पुष्प शर्मा ने 11 मार्च को द मिलि गैजेट वेब पोर्टल पर ये ख़बर दिखाई। आयुष मंत्रालय से आरटीआई पर मिले जवाब का हवाला देते हुए बताया कि आयुष मंत्रालय ने इंटरनेशनल योग दिवस पर न तो किसी मुस्लिम योग ट्रेनर को भर्ती किया और न ही उन्हें भर्ती करने का प्रावधान है। आयुष मंत्रालय ने इस आरटीआई को फर्जी करार देते हुए मामला दर्ज करा दिया और अब उनसे पूछताछ चल रही है।

पुष्प शर्मा के मुताबिक उन्होंने तीन बार आरटीआई लगायी तब मंत्रालय से जवाब आया और जवाब डाक के जरिए आया ऐसे में सरकार के आरोप बेबुनियाद है। वेबपोर्टल के एडीटर भी सरकार के दावे पर सवाल खड़ा कर रहे हैं।

loading...
Loading...

वहीं आयुष मंत्रालय के मुताबिक शर्मा की आरटीआई का जवाब तो दिया गया लेकिन मुस्लिमों को भर्ती करने के बारे में जो जवाब छापा गया वो गलत है। मंत्रालय ने आरटीआई के जबाब की कॉपी भी जारी की है।

Loading...
loading...