वसूली के आरोप में ईटीवी का स्ट्रिंगर हुआ बर्खास्त!

कई सालों से ईटीवी के स्ट्रिंगर के रूप में काम कर रहे रंजीत गुप्ता पर आखिरकार गाज गिर ही गयी। रंजीत गुप्ता पहले कासगंज में स्ट्रिंगर थे। उसके बाद आगरा ट्रांसफर करवा लिया। आरोप है कि आगरा के एक नेता के इशारे पर स्थानीय ठेकेदार विनोद यादव के खिलाफ खनन को लेकर खबरें चलाई। इस खबर में विनोद यादव को खनन माफिया घोषित कर दिया गया। ईटीवी पर खबर चलने के बाद विनोद यादव ने ईटीवी और रंजीत गुप्ता को मानहानि का नोटिस दे दिया।

नोटिस मिलते ही ईटीवी मैनेजमेंट में खलबली मच गई और मैनेजमेंट ने जांच के बाद रंजीत गुप्ता को बर्खास्त कर दिया। बर्खास्त होने के बाद रंजीत गुप्ता ने विनोद यादव को कॉल किया जिसमें विनोद यादव ने रंजीत गुप्ता को जमकर लताड़ा। रंजीत गुप्ता का पहले भी एक ऑडियो वायरल हो चुका है। इस ऑडियो में दस हज़ार रुपये लेने की बात कबूली है और करोड़ों को टेंडर लेने का प्लान बनाया जा रहा है।

loading...
Loading...

Loading...
loading...