सनसनीखेज खुलासा- क्यों योगी आदित्यनाथ के बारे में मीडिया एकतरफा खबर दिखा रहा है?

टीवी पत्रकार मुकेश कुमार क्यों मीडिया योगी आदित्यनाथ के बारे में बहुत कुछ कह रहे हैं?कहानी उत्तर प्रदेश चुनावों में भाजपा की जीत से शुरू हुई और अब योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद भी जारी है। उत्तर प्रदेश के फायरब्रांड नेता योगी आदित्यनाथ की छवि किसी से छिपी हुई नहीं है। यह बात तो तय थी कि, योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाया जायेगा,कल तक मीडिया उनपर सवाल उठा रही थी, आजवो ही मीडिया उनके गुणगान करने लगी और योगी जी की छवि को एक बेहतर छवि बनाने की कोशिश कर रही है। खास बात यह है कि, उत्तर प्रदेश में योगी की नीतियों से यूपी की जनता को कितना नुकसान हो रहा है, क्या परेशानियाँ उठानी पड़ रही है इस बात पर तो मीडिया कोई चर्चा नहीं कर रही है।

अब लोगों ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मिडिया में चल रही खबरों से ऊबना शुरू कर दिया है। लोगों का मानना ​​है कि मीडिया इस मामले में कुछ ज्यदा ही दिखा रही है , इतना ही नहीं, वे संदेह के साथ योगी की महिमा भी देख रहे हैं और इसके मुख्य कारण यह एक तरफा कवरेज है।

मीडिया का एजेंडा क्या है?

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में उनके चयन के बाद अचानक और आश्चर्यजनक रूप से मीडिया ने योगी में अच्छे गुणों को देखना शुरू कर दिया है और वे उन्हें उद्धारकर्ता के रूप में पेश करने में व्यस्त हैं। यह भक्ति पत्रकारिता नहीं हो सकती ऐसा लगता है कि मीडिया भारतीय लोगों के सामने आदित्यनाथ की छवि को सुधारने में व्यस्त है। अब यह देखना होगा कि यह अनजाने में हो रहा है या किसी भी एजेंडे के तहत।

loading...
Loading...

वैसे, मीडिया का काम किसी की छवि बनाने या खराब करने के लिए नहीं है। मीडिया का असली काम सही संदर्भ के साथ जानकारी पेश करना है अगर इसमें कोई संलिप्तता है, तो इसका मतलब है कि मीडिया अपनी जिम्मेदारी को पूरी तरह से नहीं खेल रहा है।अब मीडिया योगी आदित्यनाथ की छवि को लेकर भारी फेरबदल करने में जुटी हुई है। इस तरह से योगी को लेकर एक तरफा कवरेज दिखाना शक के दायरे में लेकर आता है। नेशनल दस्तक के अनुसार, ‘मीडिया योगी को लेकर अब ऐसा रवैया अपनाने में लगी हुई है मानो मीडिया अब करेक्टर सर्टिफिकेट बांटने का काम कर रही है।’

Loading...
loading...