पत्रकारों पर मणिशंकर अय्यर का गुस्सा,अर्णब गोस्वामी की चुनौती,हिम्मत हो तो डिबेट करे

“खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे” कहावत तो बचपन से सुनी थी पर देश का पढ़ा लिखा नेता जब गलती करे और उसकी सज़ा मिलने पर खिसियाहट पत्रकारों पर उतारे तो ऐसे नेताओ को खुली चुनौती देना तो धर्म बन जाता है।

मणिशंकर अय्यर ने  रिपब्लिक की माइक फेंकी, एएनआई रिपोर्टर से कहा- यू आर अनदर एनेमी । मीडिया खबरों के अनुसार कांग्रेस उपाध्यक्ष से फटकार मिलने और माफी मांगने की नसीहत के बाद जब अय्यर पत्रकारों से बात कर रहे थे तभी उन्होंने राहुल गांधी के प्रति अपना गुस्सा पत्रकारों पर इस प्रकार की अभद्र टिप्पणी कर उतारा। अय्यर द्वारा प्रधान मंत्री को कहे गए ‘नीच’ शब्द की आलोचना देश मे चारो और हो रही है। इतना ही नही भाजपा के कट्टर विरोधी और कांग्रेस के हिमायती लालू प्रसाद यादव ने भी मणिशंकर अय्यर को मेंटली अपसेट तंक कह डाला। सोशल मीडिया पर तो अय्यर की आलोचना जैसे फेस्टिवल के रूप में मनाई जा रही है। प्रधान मंत्री को कहे गए ऐसे सब्दो से पूरा देश आहत है।

पीएम नरेंद्र मोदी को नीच कहने वाले और फिर कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित होने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर ने समाचार एजेंसी एएनआई के संवाददाता को दुश्मन करार दिया। कांग्रेस उपाध्यक्ष से फटकार मिलने और माफी मांगने की नसीहत  के बाद जब अय्यर पत्रकारों से बात कर रहे थे तभी उन्होंने यह टिप्पणी की। इससे पहले उन्होंने रिपब्लिक टीवी का माइक दो बार हटा दिया। जब एएनआई संवाददाता ने अंग्रेजी में सवाल पूछा तो उन्होंने कहा, “आई विल आन्सर यू लैटर, लेट मी कम्प्लीट।” इसके बाद जब उन्होंने सवाल पूछने वाले रिपोर्टर की तरफ देखा तो कहा, “यू आर अनदर एनेमी।” अब प्रश्न यह है कि पूर्व एनेमी कौन है प्रधान मंत्री या सज़ा देने वाले राहुल गांधी ?

प्रधानमंत्री  पर इस तरह की टिप्पणी कर अय्यर अपने और विरोधियों के निशाने पर आ गए और इस कारण राहुल गांधी के कड़े निर्देशो के बाद उन्होंने बिना देर किए ही माफी मांग ली।  अपनी सफाई में दलील दी कि हिंदी उनकी भाषा नहीं है। अंग्रेजी में Low शब्द सोचकर हिंदी में नीच शब्द का इस्तेमाल किया था।

loading...
Loading...

मणिशंकर अय्यर ने कल  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कहा था। अय्यर ने पीएम मोदी के उस बयान पर प्रतिक्रिया देने के दौरान यह टिप्पणी की थी जिसमें पीएम मोदी ने कहा था कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी बाबा अंबेडकर को नहीं जानते हैं, बाबा भोले को जानते हैं।

इधर  प्रधान मंत्री को नीच कहने पर भड़के अर्णब गोस्वामी ने मणिशंकर अय्यर को खुली चुनौती देते हुए  लिखा है कि अय्यर जैसे लोग जो सिर्फ गांधी परिवार की चाटुकारिता करने और येन-केन प्रकारेण सुर्खियों में बने रहना चाहते हैं, वो कांग्रेसी मानसिकता को उजागर करने वाले उटपटांग बयान देते हैं।अर्णब ने कहा कि कांग्रेस में ऐसे लोग कभी रिटायर नहीं होते हैं बल्कि प्रमोशन पाते हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कहे जाने पर रिपब्लिक टीवी के एंकर अर्णब गोस्वामी भड़क गए। उन्होंने अय्यर को चैनल पर आकर उनसे डिबेट करने की चुनौती दी है। अर्णब ने कहा कि अय्यर लंबे समय से ही विवादित बयान देते रहे हैं लेकिन यह पहली बार है जब उन्होंने आम जनमानस के बीच यह स्वीकार किया है कि उन्होंने नीच शब्द का इस्तेमाल कर गलती की है। अर्णब ने मणिशंकर अय्यर के बॉडी लैंग्वेज पर भी ताना मारा है। अर्णब ने कहा कि जो शख्स एक चुनाव भी नहीं जीत सकता वह प्रधानमंत्री को नीच कह रहा है।

Loading...
loading...