पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के मामले में 6 महीने बाद हुई पहली गिरफ्तारी

पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के छह माह बाद कर्नाटक पुलिस ने शुक्रवार को एक व्यक्ति को इस सनसनीखेज हत्या में शामिल होने के संदेह में गिरफ्तार किया. उसका संबंध एक दक्षिणपंथी कट्टर संगठन से बताया जाता है. विशेष जांच दल( एसआईटी) ने बताया कि उसने हथियारों के कथित तस्कर के टी नवीन कुमार को गिरफ्तार किया. उसे दो मार्च को इस मामले में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था. गौरी लंकेश हत्याकांड में यह पहली गिरफ्तारी है. पिछले साल पांच सितंबर को यहां अज्ञात हमलावरों ने गौरी लंकेश की उनके घर में ही बिल्कुल करीब से गोलीमारकर हत्या कर दी थी. वह सत्ताविरोधी और दक्षिणपंथ विरोधी के रुप में चर्चित थीं.

गौरी लंकेश हत्याकांड: SIT ने पूछताछ के लिए एक व्यक्ति को हिरासत में लिया, 19 फरवरी को हुई थी गिरफ्तारी

मामले के जांच अधिकारी पुलिस उपायुक्त एम एन अनुचेठ ने कहा, ‘‘ उसे( नवीन कुमार को) गिरफ्तार किया गया है. वह( इस मामले में) एक आरोपी है.’’

पुलिस के अनुसार संदेह है कि कुमार किसी छोटे- मोटे दक्षिणपंथी संगठन से जुड़ा है. शुरु में उसे19 फरवरी को पांच कारतूस अवैध रुप से रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. तब उसके विरुद्ध हथियार कानून के तहत मामला दर्ज किया गया था और उसे अदालत द्वारा न्यायिक हिरासत में भेजा गया था.

 

loading...
Loading...

पूछताछ के बाद उसे गौरी लंकेश हत्याकांड में उसका हाथ होने के संदेह में एसआईटी की आठ दिनों की हिरासत में भेजा गया. एसआईटी इस हत्याकांड की जांच कर रही है. महज दो दिन पहले गृहमंत्री रामलिंगा रेड्डी ने कहा था कि शीघ्र ही एसआईटी यह स्पष्ट करेगी कि पुलिस ने इस मामले में सही व्यक्ति को पकड़ा है या नहीं. वैसे कुमार के परिवार का कहना है कि वह निर्दोष है तथा उसका इस हत्याकांड से कोई लेना- देना नहीं है.

Loading...
loading...