पत्रकारों के खिलाफ IPS अधिकारी ने जारी किया ये तुगलकी फरमान

यूपी के बरेली जिले में पत्रकारों के खिलाफ एक तुगलकी फरमान जारी किया गया है। यह फरमामन जिले में तैनात एक ट्रेनी आईपीएस अधिकारी ने जारी किया है, जिससे जिले भर के पत्रकारों में रोष उमड़ आया है। दरअसल जिले के एएसपी अशोक कुमार मीणा ने अपने  रेंज में आने वाले सभी थानेदारों को एक पत्र लिखा है, जिसमें ये आदेश दिया गया है कि थाने में किसी भी पत्रकार को घुसने की अनुमति न दिया जाए।

इस आदेश में कहा गया है कि अब पत्रकार दिन में एक बार ही थाने जा सकते हैं। इतना ही नहीं आदेश का पालन न करने वाले पत्रकारों की सूची बनाकर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। इसमे उनका तर्क है कि पत्रकार बंधुओं के असमय थाने आने-जाने से काम सरकारी काम प्रभावित होता है।

फिलहाल मामला सामने आने के बाद एएसपी अशोक कुमार मीणा कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। वहीं इस फरमान से नाराज पत्रकार अब ट्रेनी आईपीएस के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे है। वहीं अब सवाल यह भी उठने लगा है कि बरेली पुलिस में ऐसा क्या हो रहा है, जिसे एएसपी साहब छुपाना चाहे रहे है। एएसपी के विवादित पत्र को पढ़ने के बाद पत्रकारों ने जब उनसे बात करने की कोशिश की तो वह कैमरा देखते ही उठ खड़े हुए।

loading...
Loading...

बता दें कि अशोक कुमार मीणा बरेली में सीओ सेकंड के पद पर तैनात है। इनके अधिकार क्षेत्र में तीन थाने किला, सुभाषनगर और सीबीगंज आते है। अशोक ने तीनों थाने में लिखित आदेश जारी करते हुए आदेश में कहा है कि सभी थाना प्रभारी अपने अपने क्षेत्र में रहने वाले पत्रकारों की जांच करे। फर्जी पत्रकारों के खिलाफ कार्रवाई करें।

वहीं इस मामले में एडीजी जोन प्रेम प्रकाश ने कहा है कि हम लोग प्रेस की स्वतंत्रता पर पाबंदी नहीं लगा सकते। उन्होंने कहा वो नए अधिकारी है उनको जानकारी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि इस मामले की एसएसपी जोगेंद्र कुमार से जांच कराई जाएगी। जांच के बाद कार्रवाई होगी।

Loading...
loading...