कुमार विश्वास को नीचा दिखाने के लिए केजरीवाल ने कपिल मिश्रा को मंत्री पद से हटाया

नई दिल्‍ली। टैंकर घोटाले में फंसे दिल्‍ली के जल मंत्री कपिल मिश्रा को पद से हटा दिया गया है, एमसीडी चुनाव में हार के बाद आप पार्टी (AAP) में चले रहे घमासान के बीच शनिवार शाम को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कपिल मिश्रा को मंत्री पद से हटा दिया। कपिल को कुमार विश्वास का करीबी माना जाता है और इसे सीधे तौर पर उससे जो़ड़कर भी देखा जा रहा है। कुमार विश्वास ने कहा कि भारत माता की जय, चाहे कुछ भी हो बाहर आवाज़ उठाना जारी रखेंगे। कपिल मिश्रा ने भी कहा कि कल सुबह बहुत बड़ा टैंकर घोटाला वह खोलने जा रहे हैं।

MCD चुनाव में पार्टी की हार के बाद कपिल ने विश्वास के सुर में सुर मिलाते हुए कहा था कि पार्टी ईवीएम के कारण नहीं हारी है। अरविंद केजरीवाल ने कपिला मिश्रा को मंत्री पद से हटाए जाने की खबर को री-ट्वीट कर इस खबर की पुष्टि की है। ट्वीट में कैलाश गहलोत और राजेंद्र गौतम को मंत्री बनाए जाने की जानकारी दी गई है। सूत्रों के अनुसार कपिल की जगह कैलाश गहलोत को पर्यटन मंत्री बनाया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक़ कपिल को हटाने में पार्टी के ही बड़े नेताओं का हांथ है, जिसे MCD चुनावों से पहले दिल्ली में पानी कि किल्लत के कारण उनको हटाने के लिए यह पूरा खेल रचा गया। बताया जा रहा है कि  विश्वास के क़रीबी होनें के चलते ही उनकी छुट्टी की गई है. क्योंकि उन्होनें अमानातुल्लाह खान के साथ विवाद में विश्वास का साथ दिया था। पार्टी के क़रीबी सूत्रों कि मानें तो यह पूरा खेल केजरीवाल के इर्द गिर्द रहने वाले लोगों का हैं जिसमें संजय सिंह और आशुतोष को मुख्य वजह बताया जा रहा है। कुमार विश्वास ने इस पर खुल कर कहा है कि चाहे जो भी हो बाहर आवाज़ उठाना जारी रखेंगे। भारत माता की जय।

loading...
Loading...

MCD चुनाव में हार के बाद कपिल ने कहा था, ‘आत्मविश्लेषण का समय आ गया है। दो वर्ष बाद हमें ऐसा दिन क्यों देखना पड़ रहा है। चाहे मोदी लहर हो या नहीं, यह स्पष्ट हो गया है कि लोगों ने हमें वोट नहीं दिया है। आज वास्तविकता यह है कि हमें 2015 की तुलना में कम सीटें मिली हैं। परिणाम को महज ईवीएम पर दोष मढ़कर नहीं देखा जा सकता है।’ गौरतलब है कि दिल्ली के डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया ने MCD चुनाव में AAP की हार के लिए ईवीएम को दोषी ठहराया था।

Loading...
loading...